Training Programme on Integrated management of mango and guava orchards

आम एवं अमरुद का समन्वित बागवानी प्रबंधन पर प्रशिक्षण कार्यक्रम

भा.कृ.अनु.प.- केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, रहमानखेड़ा ने उद्यान विभाग, मंडी, हिमांचल प्रदेश द्वारा प्रायोजित आम एवं अमरुद का समन्वित बागवानी प्रबंधन पर दिनांक 12-18 मार्च 2019 को एक प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में मंडी, हिमांचल प्रदेश के 20 किसानो ने भाग लिया। कार्यक्रम का उद्घाटन डॉ. एस राजन, निदेशक भा.कृ.अनु.प.-कें.उ.बा.सं. द्वारा किया गया। प्रशिक्षुओ को आम एवं अमरुद के अधिक उत्पादन हेतु प्रवर्धन, देखभाल और रख-रखाव, छत्र एवं विकार प्रबंधन, जल एवं पोषक तत्वो का प्रबंधन, रोग एवं कीट प्रबंधन, कीटनाशक अवशेष से सुरक्षा सम्बन्धी उपाय, जैविक बागवानी, उपोष्ण फलो के सघन बागवानी में प्लास्टिक का उपयोग, प्रसंस्करण उत्पाद एवं पोषण सुरक्षा से सम्बंधित विषयो पर संस्थान के वैज्ञानिको द्वारा विषय प्रशिक्षित किया गया। इसके अलावा प्रशिक्षुओ को संस्थान के नर्सरी, फल प्रसंस्करण, श्रेणीकरण एवं पेटीबन्दी प्रयोगशालाओ का भ्रमण भी कराया गया।

ICAR-Central Institute for Subtropical Horticulture, Rahmankhera, organized a training programme on Integrated management of mango and guava orchards from 12.03.2019-18.03.2019 sponsored by Horticulture Department, Mandi, Himachal Pradesh. In this training programme, 21 farmers from Mandi, Himachal Pradesh were participated. The programme was inaugurated by Dr. S. Rajan, Director, ICAR-CISH. An intensive knowledge were given by the Institutes scientists regarding propagation, care and maintenance, canopy and disorder management, water, nutrients, disease and pest management, safety measures from pesticide residues, organic horticulture, use of plastic in high density planting of subtropical fruits to the trainees. Moreover, trainees were also exposed to nursery, fruit processing as well as grading and packaging laboratories.