Technology demonstration and awareness programme organised at farmers field

तकनीक स्थानान्तरण कार्यक्रम के तहत किसानों के प्रक्षेत्र में प्रदर्शन

भा.कृ.अनु.प.-केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, लखनऊ के वैज्ञानिक डा. वी. के. सिंह, डा. ए. के. भट्टाचार्य, डा. ए. के. त्रिवेदी तथा पी.एफ.डी.सी. परियोजना में कार्यरत डा. मनोज कुमार सोनी, नीरज कुमार शुक्ला द्वारा दिनांक 16.12.2017 को ग्राम-बेलगढ़ा, विकास खंड-मलिहाबाद, जनपद-लखनऊ में टमाटर की खेती एवं सब्जियों के उच्च गुणवत्तायुक्त उत्पादन हेतु तकनीकी जानकारी देने के लिए किसान के प्रक्षेत्र में प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान वैज्ञानिकों ने किसानों को बताया कि प्रो-ट्रे या प्लास्टिक ट्रे नर्सरी उगाने की एक नवीन पद्धति है जिसमें उच्च पैदावार वाली टमाटर की संकर किस्मों को लगाकर उच्च गुणवत्ता वाली फसलों की नर्सरी का उत्पादन सफलता पूर्वक किया जा सकता है। प्लास्टिक ट्रे में उगाये गये पौधों में रोपाई के दौरान पौधों की जड़ों को कम नुकसान पहुँचता है तथा कीट एवं व्याधियों का प्रकोप नहीं पाया जाता है और किसान टमाटर की अच्छी फसल प्राप्त कर सकते हैं। इस अवसर पर किसानों को प्रो-ट्रे का वितरण भी किया गया। इसके बाद किसानों ने सब्जियों के उत्पादन में होने वाली अन्य समस्याओं पर चर्चा की। टमाटर की हिमसोना प्रजाति (इनडिटरमिनेट टाइप) का किसान के प्रक्षेत्र में लगभग 6000 वर्ग फ़ीट में टमाटर का पौध रोपण कर प्रदर्शन किया गया।

ICAR- CISH Lucknow scientists Dr. V.K. Singh, Dr. A.K. Bhattacharya and Dr. A.K. Trivedi conducted a demonstration trial and awareness programme for high quality nursery production with assistance of PFDC staffs Dr. Manoj Kumar Soni and Shri Neeraj Kumar Shukla at Belgarha, Malihabad, Lucknow on 16.12.2017. During this programme, scientists create awareness among farmers about advance technology; pro-tray and plastic tray for nursery production. This technology would beneficial for high quality production of nursery for tomato and vegetable crops. Nursery raising in soil less culture in pro tray was demonstrated for successful quality production of tomato. About 300 seedling of tomato cv. Heemsona in pro tray were also distributed. Thereafter, farmers discussed about problems faced during vegetable production. The appropriate management practices were also demonstrated in planted indeterminate tomato cv. Heemsona.