Seminar on quality mango production, post-harvest management and marketing

गुणवक्ता युक्त आम के उत्पादन, तुड़ाई उपरांत प्रबंधन एवं विपणन पर संगोष्ठी

बागवानी विभाग, लखनऊ द्वारा गुणवक्ता युक्त आम के उत्पादन, तुड़ाई उपरांत प्रबंधन एवं विपणन पर दो दिवसीय (10-11 जनवरी) संगोष्ठी का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का उद्घाटन दिनांक 10.01.2019 को मुख्य गणमान्य अतिथि माननीय सांसद श्री कौशल किशोर और विशिष्ट अतिथि डॉ. एस राजन (निदेशक भा.कृ.अनु.प.- कें.उ.बा.सं.) की उपस्थिति में किया गया। इस कार्यक्रम में कुल 60 किसानों ने भाग लिया। इस अवसर पर, श्री कौशल किशोर जी ने किसानों को आम में फूल आने के समय अंधाधुंध कीटनाशक का उपयोग करने के बजाय कम से कम उपयोग के लिए संबोधित किया और वैज्ञानिकों से आम के लिए सुरक्षित कीटनाशक समय-सारणी पर काम करने का भी आग्रह किया। डॉ. शैलेन्द्र राजन ने कुशल परिवहन के माध्यम से किसानों की आय को दोगुना करने तथा बाजार में वांछित माँग के अनुसार फलों की आपूर्ति के लिए अपने विचारो को साझा किया। बागवानी विभाग, उत्तर प्रदेश के निदेशक डॉ. आर.पी. सिंह ने उपरोक्त कार्यक्रम का समन्वय किया।

A two-day state-level seminar on quality mango production, post-harvest management and marketing was organised by the Horticulture department from 10.01.2019 to 11.01.2019. The programme was inaugurated by Shri Kaushal Kishor (Honourable MP) as Chief Guest in presence of Dr. Shalendra Rajan (Director, ICAR-CISH, Lucknow) as a Special Guest. A total 60 farmer participated in seminar. On this occasion, Shri Kaushal Kishor addressing the farmers for least use of insecticide instead of indiscriminate use at the time of flowering in mango and also urged the scientists to work on safe insecticide schedule for mango. Dr. Shalendra Rajan sharing own view on minimizing the fruits loss as well as doubling the farmers income through efficient transport of fruits in demanding market. Dr. R.P. Singh, Director of Horticulture department, coordinated the programme.