Seminar on Per Drop More Crop (Microirrigation) organized by ICAR-CISH under Pradhanmantri Krishi Sinchai Yojna

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना पर ड्राप मोर क्रॅाप (माइक्रोइरीगेशन) के अंतर्गत दो दिवसीय संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन

भा.कृ.अनु.प.- केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, रहमानखेड़ा के सहयोग से सुनियोजित कृषि विकास केन्द्र (पी.एफ.डी.सी.) ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना “पर ड्राप मोर क्रॅाप“ (माइक्रोइरीगेशन) के अंतर्गत दिनांक 05.03.2019 से 06.03.2019 तक दो दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया। यह कार्यक्रम उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, उत्तर प्रदेश द्वारा प्रायोजित था। संगोष्ठी में उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिले के 400 किसानों ने भाग लिया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन दिनांक 05.03.2019 को मुख्य अतिथि माननीय सांसद श्री कौशल किशोर द्वारा डॉ. शैलेन्द्र राजन (निदेशक, भा.कृ.अनु.प.- कें.उ.बा.सं.), डॉ. आर.पी. सिंह (निदेशक, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण, उत्तर प्रदेश) एवं डॉ. एन.एल.एम. त्रिपाठी (नोडल अधिकारी, सूक्ष्म सिंचाई, उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण निदेशालय, उत्तर प्रदेश) की उपस्थिति में हुआ। पी.आई., पी.एफ.डी.सी. ने तकनीकी सत्र की शुरुआत करते हुए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना कार्यक्रम के महत्व के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इसके बाद संस्थान के अन्य वैज्ञानिकों ने सूक्ष्म सिंचाई के विभिन्न पहलुओं पर व्याख्यान दिया। अगले दिन, प्रधान वैज्ञानिक, डा. वी.के. सिंह ने किसानो को संस्थान में प्रायोगिक प्रक्षेत्र का भ्रमण कराया तथा सूक्ष्म सिंचाई प्रौद्योगिकी को अपनाने में आने वाली समस्याओं एवं उनके निदान के बारे में बताया।

Under Prime Minister Krishi Sinchai Yojna, PFDC organized two days seminar programme on "Per Drop More Crop" (Microirrigation) at ICAR-Central Institute for subtropical Horticulture, Rehmankhera, Lucknow, Uttar Pradesh from 05.03.2019 to 06.03.2019. This programme was sponsored by Horticulture and Food Processing Department, Uttar Pradesh. In this programme, 400 farmers from different district of Uttar Pradesh were participated. The programme was inaugurated by Shri Kaushal Kishor (Honourable MP) as Chief Guest in presence of Dr. Shailendra Rajan (Director, ICAR-CISH, Lucknow), Dr. R.P. Singh (Director, Horticulture and food Processing, Uttar Pradesh), Dr. N.L.M. Tripathi (Nodal Officer, Micro Irrigation, Directorate of Horticulture and Food Processing, Uttar Pradesh). At the outset of the technical session, P.I., P.F.D.C., gave detailed information about the importance of the PMKSY programme. The institutes scientists given lectures on various aspect of microirrigation. On the next day, Dr. V.K. Singh coordinated the experimental field visit of farmers and also unriddle the problem and their solution for adopting micro-irrigation technology.