ICAR- Central Institute for Subtropical Horticulture invites application for Agri-Clinic and Agri-Business Centre Scheme

भा.कृ.अनु.प.-के.ऊ.बा.सं. रहमानखेड़ा, लखनऊ, उत्तर प्रदेश द्वारा कृषि क्लिनिक और कृषि व्यापार केंद्र योजना के लिए दो महीने की निशुल्क प्रशिक्षण हेतु आवेदन पत्र का आमंत्रण

नाबार्ड के सहयोग से कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार ने पूरे देश में प्रत्येक किसान को खेती के बेहतर तरीके से अवगत कराने के लिए एक अनूठा कार्यक्रम शुरू किया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य कृषि स्नातक के बड़े पूल में उपलब्ध विशेषज्ञता को टैप करना है। भले ही आप एक नए स्नातक हैं या नहीं, या आप वर्तमान में नियोजित हैं या नहीं, आप अपना खुद का कृषि क्लिनिक या एग्री बिजनेस सेंटर स्थापित कर सकते हैं और असंख्य किसानों को व्यावसायिक विस्तार सेवाएं प्रदान कर सकते हैं। इस कार्यक्रम के लिए प्रतिबद्ध सरकार अब कृषि में स्नातक, या बागवानी, रेशम कीट पालन, पशु चिकित्सा विज्ञान, वानिकी, डेयरी, कुक्कुट पालन, और मत्स्य पालन आदि जैसे कृषि से जुड़े किसी भी विषय को प्रशिक्षण प्रदान कर रही है। प्रशिक्षण पूरा करने वाले लोग उद्यम के लिए विशेष स्टार्ट-अप ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं। किसानों के लिए परामर्शदाता बनकर पैसा और प्रतिष्ठा कमाएं। कृषि व्यवसाय केंद्र कृषि उत्पादन और किसानों की आय बढ़ाने के लिए भुगतान सेवाएं प्रदान करेंगे। केंद्रों को किसानों को फसल चयन, सर्वोत्तम कृषि प्रथाओं, फसल-फसल के मूल्यवर्धित विकल्पों, महत्वपूर्ण कृषि सूचनाओं (यहां तक कि इंटरनेट आधारित मौसम पूर्वानुमान सहित), मूल्य प्रवृत्तियों, बाजार समाचार, जोखिम शमन और फसल बीमा, क्रेडिट और इनपुट पहुंच, साथ ही साथ महत्वपूर्ण स्वच्छता और फाइटो-सेनेटरी विचार, जिन्हें किसानों को ध्यान में रखना है। इस देशव्यापी पहल द्वारा कृषि क्लिनिक या कृषि व्यापार केंद्र स्थापित करने के लिए नि: शुल्क प्रशिक्षण एवम इस तरह के केंद्र की स्थापना में रुचि रखने वाले कृषि स्नातकों को विशेष प्रशिक्षण मुफ्त में मुहैया कराया जा रहा है, देश भर में चुनिंदा संस्थानों द्वारा 2 महीने का प्रशिक्षण पाठ्यक्रम पेश किया जाएगा। पाठ्यक्रम में उद्यमिता और व्यापार प्रबंधन, साथ ही गतिविधि के आपके चुने हुए क्षेत्रों में कौशल सुधार मॉड्यूल शामिल हैं। कृषि क्लिनिक या कृषि व्यापार केंद्र के लिए उपलब्ध बैंक ऋण सब्सिडी के लिए परियोजना लागत 20 लाख रुपये कर दिया गया है (बेहद सफल व्यक्तिगत परियोजनाओं के मामले में 25 लाख) और समूह परियोजना के लिए 100 लाख रुपये। इस निशुल्क प्रशिक्षण में सम्मिलित होने हेतु ऑनलाइन आवेदन MANAGE की वेबसाइट लिंक https://acabcmis.gov.in/ApplicantReg.aspx पर कर सकते हैं जो की पूर्णतया निशुल्क है. उम्मीदवारों के चयन के पश्चात दो महीने की प्रशिक्षण भी निशुल्क दिया जायेगा. प्रशिक्षण ढहरने एवं खाने का इंतज़ाम भी भा.कृ.अनु.प.- के. ऊ. बा. सं. रहमानखेड़ा, लखनऊ, उत्तर प्रदेश द्वारा किया जायेगा.

आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 सितंबर, 2018 है।

संपर्क करें

कृषि क्लिनिक और कृषि बिजनेस ट्रेनिंग सेंटर (एसी और एबीसी) लखनऊ

भा.कृ.अनु.प.- केंद्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान,रायबरेली रोड कैंपस,

बड़ी लालकुर्ती बाजार, तेलबाग, पोस्ट -दिलकुशा, लखनऊ -226002 (ऊ प्र)

संपर्क: ईमेल-, cish.lucknow@gmail.com cishmanage@gmail.com

+91 9140228806 (मो) 0522- 2841022-24 (O), 0522-2841025 (fax)

The Ministry of Agriculture and farmers welfare, Government of India, in association with NABARD has launched a unique programme to take better methods of farming to each and every farmer across the country. This programme aims to tap the expertise available in the large pool of Agriculture Graduates. Irrespective of whether you are a fresh graduate or not, or whether you are currently employed or not, you can set up your own Agri-Clinic or Agri-Business Centre and offer professional extension services to innumerable farmers. Committed to this programme, the Government is now also providing start-up training to graduates in Agriculture, or any subject allied to Agriculture like Horticulture, Sericulture, Veterinary Sciences, Forestry, Dairy, Poultry Farming, and Fisheries, etc. Those completing the training can apply for special start-up loans for venture. Agribusiness Centres would provide paid services for enhancement of agriculture production and income of farmers. Centres would need to advice farmers on crop selection, best farm practices, post-harvest value-added options, key agricultural information (including perhaps even Internet-based weather forecast), price trends, market news, risk mitigation and crop insurance, credit and input access, as well as critical sanitary and phyto-sanitary considerations, which the farmers have to keep in mind. As an integral part of this nationwide initiative, specialised training will be provided to Agriculture Graduates interested in setting up such a centre. Being provided free of cost, the two months training course will be offered by select institutes across the country. Initiated by SFAC, and co-ordinated by MANAGE, the course comprises Entrepreneurship and Business Management, as well as skill improvement modules in your chosen areas of activity. Ceiling of project cost for subsidy has been enhanced to Rs.20 lakhs for an individual project (25 lakhs in case of extremely successful individual projects) and to Rs.100 lakhs for a group project. In order to join this totally free training, the online application can be made on MANAGE website link https://acabcmis.gov.in/ApplicantReg.aspx. After the selection of candidates, two months of residential training will provided to the candidates.

Last date of application is September 20, 2018.

Contact us at:

Agri Clinic & Agri Business Training Center (AC & ABC) Lucknow

ICAR-Central Institute for Subtropical Horticulture (CISH), Raebareli Road Campus,

Bari Lalkurti Bazar,Telibagh, P.O.-Dilkusha, Lucknow-226002 (U.P.)

Contact: Email- cish.lucknow@gmail.com cishmanage@gmail.com,

+91 9140228806 (M) 0522- 2841022-24(O), 0522-2841025 (F)