Demonstration on mango mealy bug management at village Belgarha (Malihabad)

मेरा गांव मेरा गौरव कार्यक्रम के तहत ग्राम बेलगढ़ा (मलिहाबाद) में आम के बग प्रबंधन पर प्रदर्शन

मेरा गाँव मेरा गौरव योजना के तहत भा.कृ.अनु.प.- कें.उ.बा.सं. रहमानखेड़ा के वैज्ञानिको के एक दल ने दिनांक 10.01.2019 को मलिहाबाद विकास खण्ड के अंगीक्रत गांव बेलगढ़ा का भ्रमण किया। वैज्ञानिक दल ने आम की फलो के उत्पादन और गुणवक्ता को प्रभावित करने वाले मुख्य कीट मिली बग (ड्रोसिचा मैंगिफेरा) के प्रबंधन के लिए रसायनिक और पर्यावरण-अनुकूल तरीको का प्रदर्शन किया तथा गांव के स्थानीय किसानो को इसे प्रबंधित करने के बारे में बताया। इसके अलावा किसानो को मिली बग के प्राकृतिक पोषिता झाड़ी भतार के उन्मूलन के लिए जागरूक किया गया। वैज्ञानिको ने फल के उत्पादन और गुणवक्ता को प्रभावित करने वाले अन्य कीटो के प्रबंधन के बारे में भी किसानो को जानकारी दी तथा बेसिन की सफाई, पॉलिथीन बैंडिंग, क्लोरपायरीफोस डस्टिंग का प्रदर्शन भी किया।

Under Mera Gaon Mera Gaurav Scheme, a team of Scientists from ICAR-Central Institute for Subtropical Horticulture, Rahmankhera visited the Belgarha village of Malihabad block on 10.01.2019. The team demonstrated both chemical and eco-friendly methods for management of main pest of mango i.e., mealy bug (Drosicha mangiferae) that affect both production and quality of mango. Moreover, they also sensitized the local formers to eradicate the Bhatar shrub plant, which is a natural host of mealy bug. The team demonstrated basin cleaning, polythene banding, chlorpyriphos dusting and also given information to manage the other insect pests that hampered the production and quality of fruits.