स्वच्छता ही सेवा रिपोर्ट-28.12.2018

भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, रहमानखेड़ा, लखनऊ के वैज्ञानिकों, तकनीकी अधिकारियों और कर्मचारियों ने संस्थान के आवासीय परिसर और अतिथिगृह की स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए परिसर के पानी की टंकी की सफाई की। इसके अलावा संस्थान के वैज्ञानिको के एक दल ने काकोरी ब्लॉक के 5 गांवों में जाकर वहाँ के स्थानीय किसानों को जल निकासी चैनलों की सफाई, फसलों की सिंचाई के लिए रसोई के अपशिष्ट जल के उपयोग और वर्षा जल संचयन रणनीतियों के बारे में जागरूक किया। इसी तरह संस्थान के मालदा स्थित क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र और कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिको ने परिसर की स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए ठोस अपशिष्ट सामग्री से खाद तैयार करने की विधि का प्रदर्शन कर अन्य कर्मचारियों को जागरूक किया तथा वैज्ञानिकों और कर्मचारियो के एक दल ने वहाँ के स्थानीय ग्रामीणों और किसानों को मछली-तालाबों, जल संचयन रणनीतियों और अपशिष्ट जल को पुनर्चक्रण करके उसका उपयोग कृषि और बागवानी में करने के लिए जागरूक किया।