किसान गोष्ठी का आयोजन

भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान, लखनऊ ने सहयोगी संस्थान के रूप में अवध आम उत्पादक एवं बागवानी समिति के नेतृत्व में दिनांक 22.12.2016 को मलिहाबाद के नबीपनाह नामक गाँव में किसान गोष्ठी का आयोजन किया। इस किसान गोष्ठी में कसमंडीकलॉं, मसीढा, मोअद्दीपुर, मोहम्मद नगर तालुकेदारी आदि गाँवों के 300 से अधिक किसान एवं बागवान सम्मिलित हुए। इस समिति के प्रमुख उददेश्यों मे एक है दशहरी आम के जी.आई. का व्यवसायीकरण कर किसानों का लाभ पहुंचाना है। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उत्तर प्रदेश मंडी समिति के निदेशक, श्री राज शेखर ने कहा कि इस प्रकार के संगठित सामुदायिक संगठन छोटे किसानों एवं बागवानों के लिए अत्यन्त ही लाभप्रद सिद्ध होंगे। अपने संबोधन में उन्होंने भा.कृ.अनु.प.-केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस समिति को बनाने में संस्थान की जो भूमिका रही है वह निःसंदेह ही प्रशंसनीय है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि न केवल नबीपनाह बल्कि लखनऊ के सभी किसान एवं बागवान संस्थान द्वारा विकसित प्रौद्योगिकियों एवं तकनीकियों से भविष्य में लाभ पायेंगे। उन्होंने किसानों को आशवासन दिया कि भविष्य में छोटे किसानों को भी मैंगो पैक हाउस में प्रसंस्करण की सुविधा दिये जाने पर विचार दिया जा रहा है। श्री राज शेखर ने कहा मैंगो पैक हाउस में उपलब्ध आधारभूत सुविधाओं को दूर करने पर भी कार्य जारी है। इस अवसर पर विशिष्ठ अतिथि के रूप में बोलते हुए संस्थान के निदेशक, डॉ. शैलेन्द्र राजन ने उपस्थित लोगों को अवध आम उत्पादक एवं बागवानी समिति को तैयार करने में किये गये कार्यों की जानकारी दी। डॉ. राजन ने कहा कि आम के बागवानों को सामुदायिक आधारित संगठनों से ही लाभ की प्राप्ति हो सकती है। उन्होंने सलाह दी कि इसके लिए सभी बागवानों को सामुदायिक संगठन बनाकर कार्य करने चाहिए। डॉ. राजन ने किसान गोष्ठी के दौरान दर्जनों किसानों द्वारा पूछे गये प्रश्नों के उत्तर भी दिये। गोष्ठी के दौरान वरिष्ठ बागवान, श्री विजय सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि किसानों में जागरूकता की कमी है जिसके कारण अनेक समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है। उन्होंने आम के बाग का प्रबंधन पर जोर देते हुए कहा कि समय से रोगों एवं कीटों का प्रबंधन कर किसान संस्थान से अधिक-से-अधिक लाभान्वित हो सकते हैं। किसान गोष्ठी के दौरान संस्थान की ओर से डॉ. नीलिमा गर्ग, अध्यक्ष तुड़ाई उपरान्त प्रबंधन प्रभाग, डॉ. घनश्याम पाण्डेय, अध्यक्ष फसल उत्पादन प्रभाग, डॉ. पी.के. शुक्ला, वरिष्ठ वैज्ञानिक, डॉ. गुंडप्पा, वैज्ञानिक, डॉ. मनीष मिश्रा, प्रधान वैज्ञानिक एवं डॉ. राम कुमार, प्रधान वैज्ञानिक ने किसानों के बागवानी संबंधित प्रश्नों के उत्तर दिए। कार्यक्रम का संचालन अवध आम उत्पादक एवं बागवानी समिति के सचिव, श्री उपेन्द्र सिंह द्वारा किया गया जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री निर्मल सिंह जी ने की।